running on treadmill -sachi shiksha hindi

ट्रेडमिल पर दौड़ने का पूरा लाभ उठाएं

आधुनिक युग ने जो लाइफ स्टाइल और खानपान लोगों को दिया है,उससे लोग शारीरिक रूप से अधिक सुस्त हो गए हैं। परिणामस्वरूप मोटापा उन्हें जल्द घेर लेता है। फिर शुरूआत होती है उस मोटापे से निजात पाने की।

जिम,डाइटिंग, एरोबिक्स,स्विमिंग और अन्य कई तरीकों को अपनाकर जल्द से जल्द मोटापा कम करने की दौड़ शुरू हो जाती है। इस दौड़ में जोश इतना होता है कि होश भूल जाते हैं,जैसे वजन घटाने के लिए ट्रेडमिल पर तो लोग खूब दौड़ते हैं पर उनका तरीका सही है या नहीं, इसका ज्ञान उन्हें नहीं होता। टेÑडमिल पर लगातार दौड़ कर भी उनके शरीर को उतना लाभ नहीं मिल पाता जितना मिलना चाहिए।

आइए देखें क्या आप भी पूरा लाभ उठा रहे हैं या नहीं:-

जूते सही पहनें:

जब भी ट्रेडमिल पर दौड़े,ं सही जूते पहनें। अक्सर लोग जूतों की लुक्स पर ध्यान ज्यादा देते हैं जबकि आरामदायक और सोल में एक्सट्रा पैंडिग वाले जूते पहनने चाहिएं ताकि दौड़ते समय पैरों पर अधिक जोर नहीं पड़े। आगे के लिए ध्यान देकर ही जूतों को पहनें।

दौड़ते समय नीचे न देखें:

ट्रेडमिल पर चढ़ते से पूर्व 3 से 4 बार गहरे सांस लें और कंधों को खींचकर सामने देखें और चलना आरंभ करें। फिर धीरे धीरे स्पीड बढ़ाते हुए दौड़ना प्रारंभ करें। ट्रेडमिल पर जब भी आप चलें या दौड़े, नीचे की ओर न देखें, न ही पैरों के मूवमेंट पर ध्यान दें। इससे आप दौड़ने पर फोकस नहीं कर पाएंगे। फोकस हटने से दुर्घटना हो सकती है। आप फिसल सकते हैं। इसके अलावा गर्दन व पीठ की नस पर खिंचाव आ सकता है।

दौड़ते समय हैंडल का सहारा न लें:

दौड़ते समय टेÑडमिल के हैंडल का सपोर्ट न लें। बहुत से लोग हैंडल का सहारा लेते हैं जबकि सहारा लेने से कैलोरी कम बर्न होती है। फिटनेस विशेषज्ञों का भी यही कहना है कि हैंडल का सहारा न लें। जब आप इंक्लाइन मोड पर भी क्यों न हो, न तो हैंडल पकड़ें, न ही आगे झुककर चलें।

इंक्लाइन पर अधिक न दौड़ें :

जब भी इंक्लाइन मोड पर आप दौड़ें तो स्पीड अधिक न करें। अगर आप संतुलित दौड़ रहे हैं तो कोई दिक्कत नहीं। तेज दौड़ रहे हैं तो कमर और रीढ़ की हड्डियों पर प्रभाव सीधा पड़ता है। 1.5 के इंक्लाइन मोड पर रखें और हल्की स्पीड पर दौड़ें।

मुंह से सांस न लें:

अगर आप सांस ठीक से नहीं लेते तो आपको सांस भी चढ़ेगा और टांगों में खिंचाव की समस्या भी होगी। प्रात: डीप ब्रीदिंग का अभ्यास करें ताकि सांस नाक से गहराई से लें। इससे आप शरीर को आक्सीजन की सही मात्रा से मिल सकेगी। अगर आप मुंह से सांस लेते हैं तो आपका सांस लेने का सिस्टम ठीक नहीं है। इससे न तो आपका स्टेमिना बढ़ेगा,थकान भी जल्दी होगी और मांसपेशियों तक आक्सीजन पूरी नहीं पहुंच पाएगी।

स्ट्रेचिंग अवश्य करें:

ट्रेडमिल पर चढ़ने से पूर्व कुछ वार्मअप एक्सरसाइज अवश्य कर लें। उसमें स्टेÑचिंग पर विशेष ध्यान दें। सीधा टेÑडमिल पर जाएंगें तो जल्दी थकेंगे और मसल्स में खिंचाव होने का खतरा भी रहेगा, जिससे आप टेÑडमिल पर समुचित दौड़ नहीं पाएंगे।
अगर इन बातों को नजर में रखते हुए टेÑडमिल पर चढ़ते हैं तो आप इसका पूरा लाभ उठा सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here
Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!