detox your body -sachi shiksha hindi

अपने शरीर को करें detox

शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना ही शरीर की शुद्धि क्रिया या डिटॉक्स करना है। यह कैसे पता चलता है कि अब शरीर को डिटॉक्स करने की जरूरत है ? जब हम बिना किसी कारण सुस्ती महसूस करते हैं, खाना ठीक से नहीं पचता, पेट भरा भरा सा महसूस होता है, तब शरीर डिटॉक्स मांगता है। अगर फिर भी सावधान नहीं होंगे तो वही विषैले तत्व आपके शरीर को बीमार कर देंगे। बेहतर है आप अपना बचाव करें, स्वयं को निरोगी बनाएं और समय-समय पर शरीर को शुद्ध करते रहें। अंदरूनी शुद्धि से हम निरोगी और सुंदर रह सकते हैं।

पानी खूब पिएं:-

शरीर की अंदरूनी शुद्धि के लिए पानी का अधिक सेवन सबसे अच्छा तरीका है। दिन भर में 10 से 12 गिलास पानी पिएं। ऐसा करने से शरीर में मौजूद विषैले तत्व मूत्र और पसीने द्वारा बाहर निकल जाते हैं और पेट साफ हो जाता है। दिन में एक बार एक गिलास नींबू पानी पिएं क्योंकि नींबू पानी एक उत्तम डिटॉक्स माना जाता है। नींबू के सेवन से शरीर में क्षार की मात्रा बढ़ती है जो शरीर की सफाई के लिए ठीक है।

फलों और सब्जियों का अधिक सेवन करें:-

अपनी नियमित डाइट में फल और सब्जियों को शामिल करें। ऐसा करने से लिवर एंजाइम सक्रिय होते हैं जिससे शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकलने में मदद मिलती है। अधिक सब्जियों और फलों के सेवन से शरीर को प्रचुर मात्रा में फाइबर भी मिलता है, वजन कंट्रोल में रहता है और हम हैल्दी बने रहते हैं।

व्यायाम और ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें:-

नियमित रूप से 45 मिनट का व्यायाम हमारी बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद करता है। व्यायाम भी अच्छा माध्यम है बॉडी को शुद्ध करने का। व्यायाम करने से शरीर के साथ-साथ दिमाग भी तंदुरुस्त रहता है। अपने दिन की शुरूआत वॉकिंग, रनिंग, ब्रिस्क वॉक या साइकलिंग से कर सकते हैं। लंबे गहरे सांसों के अभ्यास से शरीर में आॅक्सीजन का संचार सुचारू रहता है। नियमित रूप से डीप ब्रीदिंग का अभ्यास कर स्वयं को तंदुरुस्त रखें।

तले हुए खाद्य पदार्थों को कहें बॉय:-

तला हुआ मसालेदार खाना सभी को स्वादिष्ट लगता है पर सेहत के लिए यह ठीक नहीं। अगर आप तंदुरुस्त रहना चाहते हैं और शरीर में विषैले तत्वों से मुक्ति चाहते हैं तो तले-भुने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।

खाना धीरे-धीरे खाएं:-

अगर खाना धीरे-धीरे चबा कर खाएंगे तो खाने का शरीर को पूरा लाभ मिलेगा। पूरी तरह से खाना पचाने के लिए खाना धीरे और चबाकर खाना चाहिए। इससे हमारी पाचन क्रिया दुरूस्त बनी रहती है। डिटॉक्सिफिकेशन प्रक्रिया के दौरान खाना हल्का खाएं। वजन कम होगा और शरीर की ऊर्जा भी बढ़ेगी। कोलेस्ट्राल और शुगर लेवल भी नियंत्रण में रहेगा। खाने में लहसुन का सेवन करें ताकि इनमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट शरीर में मौजूद विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद कर सकें।

चीनी का सेवन कम से कम करें:-

चीनी का अधिक सेवन शरीर के लिए जहर समान होता है। अगर आप जहर को बाहर निकालना चाहते हैं तो चीनी का सेवन कम से कम करें। चीनी कम खाने से हमारा मेटाबालिज्म बढ़ता है और विषैले तत्वों को बाहर निकलने में मदद मिलती है।

हर्बल टी का सेवन करें:-

हर्बल टी का सेवन रक्त संचार को बढ़ाता है जिससे शरीर के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। ज्यादा चाय-काफी का सेवन शरीर को नुकसान पहुंचाता है। हर्बल टी पाचन तंत्र की समस्याओं से निजात दिलाती है। दिन में दो कप हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं।

नींद पूरी लें और खुश रहें:-

8 घंटे की नींद शरीर को आलस्य और सुस्ती से दूर रखती है, इसलिए रात्रि को समय पर सोकर प्रात: समय पर उठें। इससे शरीर चुस्त रहेगा। खुश रहने का प्रयास भी करें क्योंकि मन का प्रभाव हमारे तन पर भी पड़ता है। निगेटिव लोगों से दूर रहें, सकारात्मक और क्रियाशील बने रहें। खुशमिजाज, पॉजिटिव लोगों का साथ शरीर में फील गुड हार्मोन्स को सक्रिय करता है, इसलिए खुश रहें।

मालिश करें:-

मालिश शरीर में रक्त संचार को बढ़ाती है। इससे विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। नियमित मसाज थेरेपी अपनाकर आप अपने आप को डिटॉक्स कर सकते हैं।
नीतू गुप्ता

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here
Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!