Take special care of skin in winter -sachi shiksha hindi

सर्दियों में त्वचा का रखें विशेष ध्यान

सर्दियों में त्वचा की सही देखभाल करना अपने आप में एक चिंता का विषय है। अधिकतर लोग पूरा ज्ञान न होने के कारण त्वचा की देखभाल सही तरीके से नहीं कर पाते, वह नहीं जानते कि क्या सही है क्या गलत है। सर्दियां प्रारंभ होते ही त्वचा में रूखापन, बालों में डैंड्रफ, एड़ियों और होंठों का फटना आम समस्याएं हैं। ठंडी, खुश्क हवाएं हमारी त्वचा की नमी को चुरा लेती हैं, इसलिए हमें इसकी देखभाल की जरूरत पड़ती है।

नर्म और चमकदार त्वचा बनाए रखने के लिए क्या जरूरी है इस बारे में जानें-

कम क्र ीम का प्रयोग करने से त्वचा खुश्क होती है:

सर्दियों में ठंड के कारण शरीर के अंदर संचार धीमी गति में होने के कारण शरीर का तापमान भी कम हो जाता है और शरीर सीवम का उत्पादन कम कर पाता है। सीवम हमारी तेल ग्रंथियों से निकलने वाला तैलीय तरल पदार्थ होता है जो हमारी त्वचा को नर्म और चमकदार बनाए रखने में हमारी मदद करता है। सर्दियों में उपयुक्त मात्र में सीवम न बनने से त्वचा का बाहरी भाग खुश्क हो जाता है इसलिए हम क्र ीम लगाते हैं ताकि ऊपरी त्वचा में नमी बनी रहे। वैसे क्र ीम का प्रभाव त्वचा पर अधिक समय तक नहीं रहता अधिक रूखी त्वचा हो तो दिन में दो से तीन बार क्र ीम लगाकर बाहरी त्वचा की नमी बरकरार रखी जा सकती है।

ठंड प्रभावित करती है हमारी बाहरी त्वचा को:

यह सच है सर्दियों का सबसे अधिक प्रभाव हमारी त्वचा की पहली परत पर पड़ता है। ठंड से बाहरी त्वचा सिकुड़ने लगती है अगर ध्यान न रखा जाए तो त्वचा के सेल्स टूटने लगते हैं धीरे-धीरे त्वचा पर लकीरें दिखाई देने लगती हैं जो बाद में झुर्रियां बन कर उभरती हैं। इसलिए सर्दियों में बाहरी त्वचा या पहली परत का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि त्वचा सिकुड़े नहीं।

प्रयोग में लाएं एक्स्ट्रा माश्चराइजर:

वैसे तो त्वचा की नमी को बरकरार रखने के लिए सीवम का मुख्य योगदान होता है। पर सर्दियों में पर्याप्त सीवम न बनने के कारण हमें त्वचा पर एक्स्ट्रा माश्चराइजर का प्रयोग करना चाहिए। माश्चराइजर युक्त कोल्ड क्र ीम लगाएं। आलिव आॅयल का प्रयोग भी शरीर पर करें इससे भी त्वचा की खुश्की कम होगी। चेहरे पर बादाम का तेल भी लगा सकते है जिससे त्वचा नर्म बनी रहेगी।

न करें साबुन या फेसवॉश का अधिक प्रयोग:

यह सच है अधिक साबुन, फेसवाश, बाडीवाश का प्रयोग करने से त्वचा और खुश्क होती है। जितनी बार आप इनका प्रयोग करेंगे उतनी त्वचा खुश्क होगी। चेहरे और शरीर की सफाई हेतु लेप बनाएं। इसके लिए दो चम्मच दूध का पाउडर, दो चम्मच चोकर और थोड़ा पानी मिलाकर लेप तैयार करें जिसे चेहरे, गर्दन बाजुओं और शरीर के अन्य अंगों पर साबुन की तरह लगाएं। शरीर पर आलिव आॅयल, सरसों के तेल, बादाम तेल से मालिश करें और हल्के गुनगुने पानी से स्रान करें। अधिक तेज गर्म पानी त्वचा की खुश्की बढ़ाता है। क्लीजिंग के लिए क्लीजिंग मिल्क या माइल्ड फोमिंग क्लींजर या अल्कोहल रहित टोनर का प्रयोग कर सकती हैं। पीलिंग, मास्क या एल्कोहल युक्त टोनर्स का प्रयोग न करें।

फटे होंठ पर लिपस्टिक का प्रयोग न करें:

सर्दियों में होंठ फटना साधारण प्रक्रि या है, जिन दिनों होंठ फटे हों लिपस्टिक का प्रयोग न करें। उसके स्थान पर पेट्रोलियम जैली या लिप बाम का प्रयोग करें। होंठों पर मलाई लगा कर हल्के से मल दें ताकि डेड स्किन निकल जाए। रात्रि में नाभि पर सरसों का तेल या थोड़ा सा घी लगाएं होंठ नहीं फटेंगे।

धूप सेंकते समय सनब्लाक क्र ीम लगाना ना भूलें:

वैसे धूप से नेचुरल विटामिन डी मिलता है पर इसकी अल्ट्रावायलेट किरणें त्वचा को भी नुकसान पहुंचाती हैं। सर्दियों में लोग सोचते हैं धूप का सेवन अधिक से अधिक करें, ध्यान दें धूप में बैठने से पहले सनब्लाक क्र ीम लगाना न भूलें, अन्यथा सर्दियों की धूप भी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here
Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!